कर्मचारियों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, सबको मिलेगा पूरा पेंशन का पैसा, यहाँ देखते लैटेस्ट अपडेट

हम सब जानते हैं कि ओल्ड पेंशन स्कीम योजना का लाभ सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता है इस योजना के तहत सेवानिवृत्ति के बाद जीवन भर आय का आश्वासन दिया जाता है। ओल्ड पेंशन स्कीम के तहत सरकारी कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति के बाद एक निश्चित फार्मूले के तहत पेंशन मिलती है जो की अंतिम प्राप्त वेतन की 50% होती है। सेवानिवृत्ति के बाद सरकारी कर्मचारियों को साल में दो बार महंगाई राहत के संशोधन का लाभ भी दिया जाता है।

ओल्ड पेंशन योजना के तहत यह भुगतान निश्चित होता है तथा इस भुगतान में किसी भी प्रकार के कटौती नहीं की जाती है सरकारी कर्मचारियों को वेतन में से जीपीएफ की कटौती की जाती है जो उन्हें सेवानिवृत्ति के समय एक मुफ्त दे दी जाती है। भारत में कुछ राजनीतिक दल राज्यों में पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने के सूचना मिला रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना को साल 2004 में बंद कर दिया गया था।

Old Pension Scheme

सरकारी कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति के बाद जीवन भर आई का स्रोत ओल्ड पेंशन योजना है इस योजना के तहत जीवनिवार्ट सरकारी कर्मचारियों को एक निश्चित राशि का भुगतान किया जाता है जो कि उनके अंतिम वेतन का 50% होता है। इस योजना को फंड के अभाव में साल 2004 में बंद कर दिया गया था इस योजना से होने वाला खर्च भारत सरकार वहन करती थी। इसलिए इस योजना को बंद कर दिया गया क्योंकि पेंशन प्राप्त करने वाले सरकारी कर्मचारियों की संख्या बढ़ गई थी और पैसों की कमी होने लगी थी।

यह भी पढ़ें  ई श्रम कार्ड की 1000 रूपए की नई क़िस्त हुई जारी, यहाँ से ई श्रम कार्ड पेमेंट स्टेटस चेक करें

वर्तमान में कुछ राजनीतिक दल चुनाव में जीत हासिल करने के लिए पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने की बात कर रहे है। इस योजना से प्रत्येक सरकारी कर्मचारियों को लाभ होता है आज की इस लेख में हम आपको ओल्ड पेंशन स्कीम के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ते रहिए। पुरानी पेंशन योजना के तहत सेवानिवृत कर्मचारियों को साल में दो बार महंगाई भत्ता भी दिया जाता था।

पुरानी पेंशन योजना क्यों बनाई गई?

पहले के समय सरकारी कर्मचारियों का वेतन बहुत कम था इसलिए सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने वृद्धावस्था में आए की एक निश्चित स्रोत के लिए इस योजना को बनाया था इस योजना के तहत सेवानिवृत्ति के बाद एक निश्चित राशि का भुगतान किया जाना निश्चित किया गया था। लेकिन वर्ष 2018-19 में इस योजना में बदलाव कर इसे कर्मचारियों के लिए कुछ लाभ पहुंचाने के लिए से और अधिक आकर्षक बनाया गया।

लेकिन पुरानी पेंशन योजना को बढ़ते हुए कर्ज का हवाला देकर बंद कर दिया गया था। इस के बाद नेशनल पेंशन स्कीम की शुरुआत है की गई जिसे केंद्रीय सिविल सेवा नियम में संशोधन करके बनाया गया था। वर्तमान में कुछ राजनीतिक दल ओल्ड पेंशन स्कीम को लागू करने की बात कर रहे हैं इस बीच भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के मंत्री पंकज चौधरी ने लोकसभा में बताया कि केंद्र सरकार OPS बहाली को लेकर किसी भी प्रकार के प्रस्ताव पर काम नहीं कर रही है।

केंद्र सरकार ने नेशनल पेंशन सिस्टम और ओल्ड पेंशन सिस्टम से जुड़े मुद्दे को देखने के लिए एक विशेष प्रकार की समिति का गठन कर दिया गया है यह समिति इन दोनों योजनाओं में आवश्यक परिवर्तन को बताएगी।

यह भी पढ़ें  ई श्रम कार्ड के 1000 रुपए की नई क़िस्त जारी, यहाँ से लिस्ट में नाम चेक करें

पुरानी पेंशन योजना के लाभ

इस योजना का लाभ केवल सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता था 6 साल 2004 के बाद बंद कर दिया गया इस योजना के तहत सरकारी कर्मचारियों को उनके अंतिम वेतन का 50% मासिक पेंशन के रूप में भुगतान किया जाता था इसी के साथ डीए के वृद्धि के साथ इस भुगतान में वृद्धि होती रहती थी लेकिन इसे सरकारी खजाने पर बढ़ते हुए बोझ का हवाला देकर बंद कर दिया गया और इसकी जगह नेशनल पेंशन का स्कीम योजना लागू कर दी गई इस योजना का लाभ कोई भी व्यक्ति उठा सकता है।

अगर आपने भी पुरानी पेंशन योजना के बहाली की खबर सुनी है तो यह खबर अभी तक सही साबित नहीं हुई है भारत सरकार इस प्रकार के किसी भी योजना पर काम नहीं कर रही है तथा नेशनल पेंशन स्कीम योजना में आपसे परिवर्तन के लिए पत्रकार नेक समिति का गठन भी कर दिया है। कुछ राजनीतिक दल इस योजना को बाहर करने की बात कर रहे हैं लेकिन अभी तक यह पूर्ण रूप से स्पष्ट नहीं हुआ है।

Amar

Leave a Comment

Join Telegram